Home » News » औषधीय पौधे और जड़ी बूटियां नाम और उपयोग

औषधीय पौधे और जड़ी बूटियां नाम और उपयोग

औषधीय पौधों का उपयोग भारतीय चिकित्सा पद्धति में भोजन, औषधि, सुगंध, स्वाद, रंग और अन्य वस्तुओं के रूप में किया जाता है। औषधीय पौधों का महत्व उनमें पाए जाने वाले रसायनों के कारण है – औषधीय पौधों का उपयोग मानसिक रोगों, मिर्गी, पागलपन और मानसिक मंदता के उपचार में किया जाता है।

कफ और वात, पीलिया, गुदा, हैजा, फेफड़ा, अंडकोष, तंत्रिका संबंधी विकार, गहनता, पाचन, उन्माद, रक्त शोधक, ज्वरनाशक, स्मरणशक्ति और बुद्धि विकसित करने, मधुमेह, मलेरिया और बलवर्धक, चर्म रोग और लाभकारी औषधीय पौधे बुखार आदि में!

कौन सी जड़ी-बूटी किस काम आती है?

आयुर्वेद में हर स्वास्थ्य समस्या का इलाज है, जो न केवल समस्या से राहत देता है बल्कि समस्या को जड़ से खत्म भी करता है।

जानिए 10 ऐसी आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां, जो बिना किसी साइड इफेक्ट के आपको स्वास्थ्य लाभ देगी और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से निजात दिलाएगी:

Read Also:

आयुर्वेदिक औषधि के नाम

आयुर्वेद को सेहत का खजाना कहा जाए तो गलत नहीं होगा। हर जड़ी-बूटी में अपने भीतर शारीरिक और मानसिक के लिए कई गुण होते हैं।

वैसे आयुर्वेद में लगभग 1,200 औषधीय जड़ी बूटियों का वर्णन है। लेकिन यहां ऐसी जड़ी-बूटियां हैं जो आसानी से मिल जाती हैं। इनमें से कई तो ऐसे हैं कि लोग अपने घरों में बड़े चाव से पौधे लगाते हैं।

10 Ayurvedic Medicinal Tree:

बबूल व बबूल की फली के फायदे

बबूल जिसे कीकर भी कहा जाता है यह अकैसिया प्रजाति का वृक्ष है जिसका वनस्पतिक नाम आकास्या नीलोतिका है। यह वृक्ष अफ्रीका एवं भारतीय उपमहाद्वीप पाए जाने वाला महत्वपूर्ण वृक्ष है।

इस पेड़ के पतली डाली, पत्ते आदि मनुष्य के स्वास्थ्य सम्बंधित समस्या का समाधान करता है। यह पेड़ जमीन पर होने वाले मिट्टी के कटाव को कम करता है।

वेचेलिया निलोटिका “Gum arabic tree” फैबेसी परिवार का एक फूलदार पौधा है। यह अफ्रीका, मध्य पूर्व और भारतीय उपमहाद्वीप का मूल निवासी है।

यह ऑस्ट्रेलिया में राष्ट्रीय महत्व के खरपतवार के साथ-साथ संयुक्त राज्य अमेरिका में एक संघीय हानिकारक खरपतवार भी है।

कदम्ब औषधीय पौधों के नाम व उपयोग

Kadamba या कदम वृक्ष कदम्ब के पेड़ का धार्मिक महत्व रहा है, क्यूँकि भगवान का वृक्ष माना जाता है। कदंब आयुर्वेद में अपने औषधीय गुणों के लिए बहुत प्रसिद्ध है। कदंब के पेड़ का उपयोग कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है।

Kadamba की एक खास बात यह है कि इसके पत्ते बहुत बड़े होते हैं और इसमें से गोंद निकलता है। इसके फल नींबू के समान होते हैं। Kadamba Pushpam का अपना महत्व है। इन सुगंधित फूलों का उल्लेख प्राचीन वेदों और रचनाओं में मिलता है।

Neolamarckia cadamba, अंग्रेजी आम नामों के साथ burflower-tree, laran, और Leichhardt pine, और स्थानीय रूप से kadam या cadamba कहलाते हैं, दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया के मूल निवासी एक सदाबहार, उष्णकटिबंधीय पेड़ है। जीनस नाम फ्रांसीसी प्रकृतिवादी जीन-बैप्टिस्ट लैमार्क का सम्मान करता है।

नीम की पत्तियों के फायदे

पर्यावरण में पाए जाने वाले पेड़ नीम औषधीय पौधा है, इसके पत्ते, डाली, छाल एवं जड़ का इस्तेमाल कई प्रकार के दवा बनने का काम किया जाता है। इस पेड़ का वनस्पतिक नाम Azadiracta Indica है।

यह पेड़ अन्य पेड़ के मुकाबले जल्द बढ़ता है और नीम के कई फायदे होने के कारण यह हर जगह पर लगाया जाता है। यह पेड़ भारत के अलावा पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, म्यानमार, थाईलैंड, इंडोनेशिया, श्रीलंका आदि देशों में भी पाया जाता है। इस पेड़ की उपस्थिति पर्यावरण के अलावा मनुष्य के लिए भी लाभदायक है।

आंवला जूस पीने के फायदे

आप सभी आंवला से भली भाती परिचित होंगे ? जी हाँ यह वही फलिए पेड़ है जिसके फल का इस्तेमाल कई प्रकार से किया जाता है। यह रिबीस प्रजाति का पेड़ है जिसका वैज्ञानिक नाम ‘रिबीस यूवा-क्रिस्पा’ है। इस पेड़ को आप अपने घर के बगीचे में लगा सकते है। इस पेड़ का Growth जल्द होता है एवं इसके फल हमारे Health को स्वस्थ रखते है।

पीपल का पत्ता खाने से फायदा

पीपल का वृक्ष प्राणी जगत के लिए एक वरदान है। इस पेड़ की उपस्थित कई बीमारियों को नष्ट करने का काम करता है। पुरे वनस्पति जगत में एक मात्र यह ऐसा पेड़ है जो 24 घंटा ऑक्सीजन देता है। यह Mulberry Family का वृक्ष है जिसका वैज्ञानिक नाम Ficus Religiosa है। इस पेड़ में कई प्रकार के औषधीय गुण होने के कारण भारतीय संस्कृति में इसे विशेष स्थान दिया गया है। हिन्दू मान्यताओ के अनुसार इस वृक्ष में भगवान विष्णु का वास मन जाता है।

अच्‍छी हेल्‍थ के लिए आम के फायदे

फलो के राजा के रूप में जाने वाला फल आम है जो Cashew परिवार में पाया जाता है, इसका वैज्ञानिक नाम मेंगीफेरा इंडिका है। इस फल को भारत के राष्ट्रिय फल के रूप में जाना जाता है, भारत के अलावा पाकिस्तान और फिलीपींस का भी राष्ट्रिय फल है परन्तु बांगलादेश में राष्ट्रिय वृक्ष का दर्जा दिया गया है। अगर आप भी Mango’s Farming करने की सोच रहे है इसे जरुर पढ़े। विश्व में आम का सर्वाधिक उत्पादन भारत से होता है। भारत के अलावा यह विश्व के और भी कई अन्य देशो में भी पाया जाता है।

बकुल के फायदे

Mimusops प्रजाति में पाए जाने वाला पेड़ बकुल जिसका वैज्ञानिक नाम Mimusops Elengi है। यह एक माध्यम वाला सदाबहार पेड़ है। यह पेड़ भारत के अलावा दक्षिणी एशिया, दक्षिणी-पूर्वी एशिया एवं उत्तरी ऑस्ट्रेलिया के Tropical Forest में पाया जाता है। इस पेड़ से मिलने वाले लकड़ी काफी Costally होते है, इसके फल का इस्तेमाल दवा के रूप में किया जाता है।

करंज के पेड़ के फायदे

Millettia  प्रजाति का वृक्ष करंज है जिसका वैज्ञानिक नाम Millettia Pinnata है। इस पेड़ की डाली का इस्तेमाल दतुवन के रूप में दांत को साफ करने के लिए किया जाता है। इस पेड़ के डाली का बना दतुवन के इस्तेमाल से मनुष्य के मुह सम्बंधित समस्या से निजात मिलती है।

बेर खाने के फायदे

बेर एक प्रकार का जंगली वृक्ष है एवं इसमे फलने वाले फल का सेवन किया जाता है। इसके फल जंगली फल के श्रेणी में आते है जिसका वैज्ञानिक नाम Ziziphus Mauritiana है। इस वृक्ष में कम पानी एवं सूखे से लड़ने का विशेष क्षमता होता है जिस कारण इसे ऊष्ण एवं उपोष्ण जलवायु में बड़े आसानी से पाया जाता है।

महुआ के फायदे और घरेलु उपाय

उष्णकटिबंधीय प्रदेश में बहुता अधिक मात्रा में पाए जाने वाले पेड़ महुआ है जो भारत के जंगली इलाको एवं जंगलो में अधिक मात्रा में पाया जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम Madhuca Longifolia है। इसके फल, फुल एवं बीज का इस्तेमाल दवा के रूप में किया जाता है।

  • सबसे तेजी से बढ़ते पेड़ और पौधे – Fast Growing Tree in Hindi
  • जानिए अक्टूबर माह में कौन-सी खेती करनी चाहिए?
  • नींबू घास की खेती – लेमन ग्रास से जुडी जानकारी

आपको आज की पोस्ट कैसी लगी, आज हमने आपको बताया 10 Medicinal Trees और लाभदायक 10 चमत्कारिक पौधे बहुत आसान शब्दों में, हमने आज की पोस्ट में भी सीखा।

आपको इस पोस्ट की जानकारी अपने दोस्तों को भी देनी चाहिए। वे और सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट ज़रूर साझा करें। इसके अलावा, कई लोग इस जानकारी तक पहुंच सकते हैं।

One response to “औषधीय पौधे और जड़ी बूटियां नाम और उपयोग”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *