जानिए क्या है B.Com Full Form अब हिंदी में? जानिए क्या है B.Com Full Form अब हिंदी में? इसे Bachelor Of Commerce के नाम से जाना जाता है, इस Course से जुडी Information, जैसे Eligibility, Course, Salary, और बी.कॉम के बाद क्या करे।

B.Com Full Form, Bcom Full Form
B.Com Full Form in Hindi

B.com जिसे Bachelor of Commerce कहते है। यह एक ग्रेजुएट कोर्स है। जैसे Bachelor in Arts और Bachelor in Science होते है उसी तरह Bachelor of Commerce नाम का प्रोग्राम है जो एक स्नातक की डिग्री है।

इसे करने के लिए कैंडिडेट को बारहवीं पास होना अनिवार्य है। इसके अंतर्गत एकाउंट्स के बारे में पढने का मौका मिलता है। इसके करने के बाद उम्मीदवार को बहुत सारी नौकरियां करने का मौका मिलता है।

B.Com Kya Hai?

बीकॉम कॉमर्स में ग्रेजुएशन की डिग्री है जो तीन साल में पूरी होती है, जिसमें शिक्षा, वित्त, व्यवसाय प्रबंधन, मानव संसाधन, सांख्यिकी, विपणन, अर्थशास्त्र, सूचना आदि का अध्ययन किया जा सकता है।

आजकल स्टूडेंट्स इस कोर्स को करने में बहुत रूचि दिखा रहे है और इसे प्राथमिकता भी दे रहे हैं।

B.Com Full Form

Bachelor Of Commerce – वाणिज्य स्नातक

B.Com की Full Form “Bachelor of Commerce” होती है. B.Com को हिंदी भाषा में “वाणिज्य स्नातक” कहा जाता है, चलिए B.Com की Full Information हिंदी भाषा में प्राप्त करते है।

बीकॉम का फुल फॉर्म Bachelor of Commerce होता है। यह भारत में यह एक ऐसा Course है जो पिछले कई सालों से प्रचलति है और इसकी Demand हर राज्य में है।

B.Com कोर्स के लिए योग्यता

बैचलर ऑफ़ कॉमर्स करने के लिए कैंडिडेट को इंटरमीडिएट अथवा 10 +2 पास होना आवश्यक है। इसके अलावा कॉमर्स को एक मुख्य सब्जेक्ट के रूप में रखना होगा। वैसे तो इस सब्जेक्ट को करने के लिए कोई एंट्रेंस एग्जाम देने की जरुरत नहीं पड़ती है।

लेकिन कैंडिडेट इस कोर्स को किसी फेमस संसथान से करना चाहता है तो उसके लिए निर्धारित गयी प्रवेश परीक्षा में पास होना पड़ेगा तभी जाकर उस संसथान में एडमिशन मिलेगा। और ये सब के अलावा कैंडिडेट को इंटरमीडिएट की परीक्षा अच्छे अंको से पास होना अनिवार्य पड़ेगा।

बी.कॉम कोर्स की अवधि

B.com को एक अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम है जिसे पूरी करने के लिए स्टूडेंट्स को पुरे तीन साल की अवधि लगती है।जैसे आमतौर पर स्नातक का कोर्स ही होता है अंतर सिर्फ इतना है की इसके अंतर्गत विषय अलग होते है। पर इसे करने की प्रक्रिया समान ही होती है।

बी.कॉम प्लान, बी.कॉम टेक्स, बी.कॉम कंप्यूटर एप्लीकेशन और बी.कॉम इस कोर्स के Option होते है। इस कोर्स को करने के लिए स्टूडेंट्स को एकाउंट्स का बेसिक नॉलेज होना बहुत जरुरी है।

बी.कॉम के विषय

बी.कॉम एक एकाउंट्स बेस्ड कोर्स है अतः इसके विषय भी इसी से रिलेटेड होंगे तो आइये जानते है की इस कोर्स के अंतर्गत विद्यार्थी को कौन कौन सा सब्जेक्ट पढने का मिलेगा।

  • वित्त Finance management
  • प्रबंधन Management
  • विपणन प्रबंधन Marketing management
  • बैंकिंग लॉ Banking Law
  • लेबर लॉ Labor Law
  • कंप्यूटर computer
  • अर्थशास्त्र Economics
  • कार्मिक प्रबंधन personnel management
  • सांख्यिकी statistics
  • लागत लेखा cost accounting
  • लेखा एकाउंटिंग accounting
  • Opportunity After B.com

कॉमर्स से ग्रेजुएशन करने के बाद अभ्यर्थी प्राइवेट जॉब जैसे मार्केटिंग, एकाउंटिंग, ऑफिस असिस्टेंट आदि इस तरह की नौकरियां कर सकते है। प्राइवेट नौकरी के अलावा यदि आप प्रतियोगी परीक्षा के इच्छुक है तो आप इसकी भी तैयारी कर सकते है।

कॉमर्स से ग्रेजुएट होने के बाद एसएससी ,पोस्ट ऑफिस इत्यादि सरकारी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। हालाँकि यह एक स्नातक कोर्स है तो इससे डिग्री से जुड़े किसी भी नौकरी के लिए बिलकुल उपयुक्त है।

B.Com कोर्स की फीस

B.Com कोर्स की फीस गवर्नमेंट कॉलेज और प्राइवेट कॉलेज दोनों में अलग-अलग होती है जैसे –

गवर्नमेंट कॉलेज: दोस्तों अगर आप किसी गवर्नमेंट कॉलेज से B.Com करना चाहते हैं तो आपको तकरीबन 5-7 हजार प्रतिवर्ष देने होंगे। क्योंकि B.Com टेक्निकल कोर्स हैं तो इसके लिए आपको कॉलेज के आलावा अन्य कोचिंग क्लास या प्रोग्रामिंग क्लास जॉइन करना पड़ सकता है।

निजी कॉलेज: यदि आप निजी कॉलेज में प्रवेश लेते हैं तो आपको गवर्नमेंट कॉलेज की तुलना में आपको बहुत अधिक वेतन भुगतान करना होगा। यहां तक ​​कि हरिबाण 10-25 हजार प्रति सेमेस्टर देने वाले हैं।

बीकॉम के बाद करियर

  • अकाउंटेंट accountant
  • टैक्स सलाहकार tax consultant
  • ह्यूमन रिसोर्स human resource
  • ऑडिटर auditor
  • बैंक कर्मचारी bank employee
  • कॉल सेंटर BPO & KPO
  • प्रोफेसर या लेक्चरर professor / lecturer
  • आयात निर्यात प्रबंधक import export manager
  • स्टॉक ब्रोकर stock broker
  • कर सलाहकार tax consultant
  • वित्तीय सलाहकार financial adviser
  • बीमा सलाहकार insurance advisor
  • यात्रा प्रबंधक या एजेंट Travel Agent
  • वकील Advocate
  • सरकारी कर्मचारी Govt employee
  • बिज़नस मैन Entrepreneur
  • ऑफिस मेनेजर Manager
  • कार्यालय प्रशासक Office Administrator

Salary After B.com – इसे करने के बाद कितनी पगार मिल सकती है

वैसे ग्रेजुएट्स जिन्होंने कॉमर्स से पढाई की है और अभी अपने करियर की शरुआत की है या यूँ कहे की किसी कॉमर्स फ्रेशेर्स की स्टार्टिंग सैलरी Rs 8,000 -20,000 तक की रहती है। लेकिन उम्मीदवार किसी अच्छे संस्थान से पढ़कर आया होता है उसकी सैलरी कम से कम Rs 15,000-25,000 तक की रहती है।

और काम करते करते यदि कैंडिडेट Experienced हो जाते है तो उनकी सैलरी बढकर करीब Rs 45,000 तक पहुँच जाती है। इसी तरह हर पोस्ट के लिए कम्पनीज अच्छी पैकेज पर कैंडिडेट को Heir करती है।

B.com Course के बाद क्या करें

बैचलर ऑफ़ कॉमर्स करने के बाद यदि स्टूडेंट्स अपनी आगे की पढाई जारी रखना चाहते है तो इसके लिए उन्हें M.com, Mba जैसे कोर्स को प्राथमिकता देना चाहिए ताकि आगे चलकर उन्हें नौकरी में किसी तरह की परेशानियों का सामना न करना पड़े।

पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री लेने के बाद उम्मीदवार को करियर को आगे बढाने में काफी सहायक होती है और और अच्छे और सुनहरे अवसर प्राप्त होने लगते है।

  • M.com
  • MBA
  • CA (Chartered Accountant)
  • BAT (Business Accounting And Taxation)

B.Com Specializations

  • E-Commerce
  • Foreign Trade
  • Financial Market
  • Human Resources
  • Office Management
  • Accounts and Finance
  • Information Management
  • Investment Management
  • Banking and Insurance

निष्कर्ष:

आज की पोस्ट के माध्यम से, आप जान गए हैं कि B.Com Kya Hai और इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको हिंदी में B.Com Ki Teyari Kaise Kare में जानकारी दी है। आशा है कि आपको बीकॉम के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। हमने आपको इस पोस्ट में बीकॉम की हिंदी में जानकारी दी है, और आपने कितना सिखा हमें जरूर बताएं। आपको इस पोस्ट के माध्यम से B.Com Full Form के बारे में भी पता चला।

B.Com Full Form In Hindi आज मैंने इस पोस्ट में सीखा। आपको इस पोस्ट की जानकारी अपने दोस्तों को भी देनी चाहिए। तथा Social Media पर भी यह पोस्ट ज़रुर Share करे। इसके अलावा, कई लोग इस जानकारी तक पहुंच सकते हैं।

हमारी पोस्ट B.Com Meaning In Hindi, आपको कोई समस्या नहीं है या आपका कोई सवाल नहीं है, हमें Comment Box में Comment करके इस पोस्ट के बारे में बताएं। हमारी टीम आपकी मदद जरूर करेगी।

यदि आप हमारी वेबसाइट के नवीनतम अपडेट प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको हमारी Sahu4You की Website को Subscribe करना होगा। नई तकनीक के बारे में जानकारी के लिए हमारे दोस्तों, फिर मिलेंगे आपसे ऐसे ही New Technology की जानकारी लेकर, हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद, और अलविदा दोस्तों आपका दिन शुभ हो।

About Vikas Sahu

मैं एक पेशेवर ब्लॉगर हूँ, इस ब्लॉग पर आप उन लेखों को पढ़ेंगे जिनसे आप अपना करियर और पैसा दोनों ऑनलाइन बना सकते हैं।