कंप्यूटर चलाना कैसे सीखे – कंप्यूटर कैसे चलाये?

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on whatsapp

नमस्कार दोस्तों कंप्यूटर की जानकारी के लिए पिछली पोस्ट में हमने आपको बताया था की घर पर कंप्यूटर कैसे सीखे आज उसी कड़ी में हम आपको बताने वाले हैं की कंप्यूटर कैसे सीखे Basic Computer Knowledge In Hindi, Computer Ki Jakari Part Wise, आज हम बात कर रहे हैं की कंप्यूटर कैसे सीखे. तो दोस्तों चलिए हम आपको पूरी जानकारी देते हैं

Computer kaise chalaya jata hai
Computer kaise chalaya jata hai

दोस्तो आज के ज़माने में एक छोटे से बच्चे के पास भी Android, Computer, Laptop होता है. आज के ज़माने में अगर किसी को अच्छी नौकरी चाहिए तो कंप्यूटर थोड़ा – बहुत आना बहुत जरूरी है. आज के ज़माने में बचो को स्कूल में ही कंप्यूटर सिखाया जाता है पर जिन लोगो की पढाई लगभग कम्पलीट हो गई है पर उनके स्कूल में कंप्यूटर नहीं सिखाया गया तो उनको कंप्यूटर सीखना ही होगा क्युकी आज कल कंप्यूटर कितना जरुरी है ये आप भी जानते ही होंगे तो चलिए हम आपका Time Waste नहीं करेंगे तो आगे बढ़ते है.

दोस्तों सबसे पहले हमें यह जानना होगा की हमे कंप्यूटर में क्या क्या सीखना है.दोस्तों कंप्यूटर में सबसे पहले हमें Basic Computer Knowledge In Hindi या कंप्यूटर की जानकारी के बारे में जानना बहुत जरूरी है. बेसिक कंप्यूटर नॉलेज में “Parts of Computer” आ जाता है फिर कंप्यूटर की Functions, कंप्यूटर की Softwares सीखना होता है तो चलिए हम आपको सबसे पहले कंप्यूटर के Parts के बारे में बताते हैं Parts of Computer – कंप्यूटर के पार्ट्स की जानकारी

Basic Computer Knowledge In Hindi – Computer Ki Jankari Hindi Me Sikhe

Keyboard: Computer Keyboard का वह हिस्सा है जिस से हम कुछ भी लिखने या टाइप करने के लिए करते है. कीबोर्ड के बिना कंप्यूटर को चलाया या Operate किया जा सकता है पर आप आसानी से नहीं लिख पाएंगे जितनी आसानी से आप Keyboard के इस्तेमाल से लिख सकते हैं. कंप्यूटर के कीबोर्ड की Useful Keys की जानकारी जानिए

Mouse: Mouse Computer का वह हिस्सा है जिसकी मदद से हम Cursor को मूव करते है. माउस एकदम Rat यानि चूहे की तरह दीखता है इसी लिए इसका नाम माउस है. कंप्यूटर को माउस के बिना चलाया जा सकता है पर उस समय हमारे लिए Keyboard इस्तेमाल करना जरूरी हो जाता है करना

UPS: Ups कंप्यूटर का वो हिस्सा है जो Emergency में Electric Power देता है. मतलब अगर आप कंप्यूटर इस्तेमाल कर रहे हो और एकदम से लाइट चली जाये तो UPS आपको अपने काम को सेव करने का टाइम देता है. ये एक Inverter ही है अगर आपका यूपीएस अच्छा हो तब आपको लाइट जाने के बाद 10M-2Hr का Backup दे सकता है कंप्यूटर उसे करने के लिए. यूपीएस के बिना कंप्यूटर चल सकता है जब लाइट हो.

Monitor: Monitor Computer का वो एहम हिस्सा है जिसमे हम देखते है जो टीवी की तरह होता है. Monitor कई प्रकार के होते है जैसे Led , Lcd और Plasma. Monitor के बिना कंप्यूटर शायद चल सकता है पर आपको कुछ दिखेगा ही नहीं तो फिर क्या फायदा.

CPU: Cpu ( Central Processing Unit ) कंप्यूटर का सबसे एहम हिस्सा होता है. जिसको कंप्यूटर का Brain भी बोला जाता है. आप जो कंप्यूटर पर वर्क करते हो उसका सारा Data Cpu में ही स्टोर होता है. Computer Cpu के बिना नहीं चलेगा क्युकी Monitor , Mouse , Keyboard , Etc Devices के Wire Cpu से ही Connected होते है.

Scanner: Scanner Computer का हिंसा है ये ज्यादातर Offices और Shops में ही होता है और इसमें हम उस Pageको डालते है जिसका हमे Print और फिर कंप्यूटर में हम कमांड देते है जिससे उस फोटो की प्रतिलिपि हमे पेपर पर मिल जाएगी

Printer: Printer Computer का वो हिस्सा है जिससे हम प्रिंट निकलते है. जब भी हमें Scanner या कंप्यूटर के फाइल का प्रिंट निकलना होता है तो हम इसी का उसे करते है. Computer Printer के बिना चल सकता है.

अब आप जान चुके होंगे की कंप्यूटर के कितने और कौन कोनसे पार्ट होते है. दोस्तों कंप्यूटर कोई गेम नहीं है की एकबार देखा और सिख लिया. तो अब हम आपको बताते है कंप्यूटर को पूरा कैसे सीखे. अब हम आपको कंप्यूटर के Internal Parts के बारे में बताते हैं. Basic Computer Knowledge हिंदी में..

Computer Ke Internal Parts:

Motherboard: Motherboard हमारे Cpu(Central Processing Unit) का एक बहुत बड़ा पार्ट है. जिस की से हमारे कंप्यूटर के सभी पार्ट्स जुड़े होते हैं. बिना मोठेर्बोर्ड के आप अपने CPU में प्रोसेसर और मेमोरी नहीं Add कर सकते. Motherboard को हम Circuit Board भी कह सकते हैं.

Processor: Processor हमारे Cpu(Central Processing Unit) का मैं पार्ट होता है. प्रोसेसर हमारे कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की इनफार्मेशन को प्रोसेस करता है.

Computer Memory: Computer Memory हमारे Motherboard में उसे होने वाली एक चिप है. जो एक मेमोरी की तरह काम करती है इसे हम Ram (Random Access Memory) कहते हैं. जैसे की Ram हमारे फ़ोन में काम करती है वैसे ही Ram हमारे कंप्यूटर में भी काम करती है.

Ram जब कंप्यूटर चलता है तो साड़ी एप्लीकेशन जो आप चलते हो वह अपने अंदर ले लेती है और जब कंप्यूटर Turn Off हो जाता है तो आपका सारा एप्लीकेशन डाटा जिसपर आपने काम किया है वह Delete हो जाता है. अगर आप उसे सेव कर लेते हैं तो वह आपके पास बना रहता है.


आज के लेख में “Basic Computer Knowledge In Hindi” आपको के बारे में बहुत कुछ नया सीखने मिला, अगर आपको “ Computer Ki Jankari Hindi Me Sikhe” से जुड़ी कोई भी जानकारी लेनी है तो Comment करे और हम आपके सभी सवालों के जवाब देने का प्रयास करेंगे.

इससे Social Media कर पर अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे जिससे हमें भी कुछ मदद मिलेगी

Reading List

14 thoughts on “कंप्यूटर चलाना कैसे सीखे – कंप्यूटर कैसे चलाये?”

Leave a Comment