Google Core Web Vitals के CLS Issue को ठीक करें

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on whatsapp

एक ब्लॉगर को कई सारी समस्यायों का सामना करना पड़ता है, जैसे अल्गोरिथम के अपडेट से लेकर गूगल सर्च कंसोल के छोटे से बड़े इशू भी आपके वेबसाइट के लिए बहुत प्रभावी होते है,

यदि आप अपने गूगल सर्च कंसोल पर Cumulative Layout Shift (CLS) से अधिक त्रुटि देखते हैं तो Core Web Vitals में CLS Error को ठीक करने और अनुकूलित करने के लिए समाधान लेकर आये हैं।

How to Fix Google Core Web Vitals Issue
How to Fix Google Core Web Vitals Issue

गूगल वेबमास्टर टूल अर्थार्त गूगल सर्च कंसोल में यह इशू Page Speed, HTTPS, Mobile-Friendly और Safe-Browsing के आधार पर रैंकिंग फैक्टर के रूप में काम करता है, अभी तक इसके बारे में ज्यादा विवरण जारी नहीं किये गये है लेकिन Google खोज कंसोल ने कोर वेब विटल्स के लिए रिपोर्ट दिखाना शुरू कर दिया है।

Google’s Core Web Vitals in Hindi

Core Web Vitals जो की गूगल के नये अपडेट के साथ पेश किये गये है जिसमे वेबसाइट के अनुभव के अनुसार नींम वेबसाइट को फ़िल्टर किया जायेगा और उन्हें रैंकिंग प्रदान की जाएगी ऐसे में Google ने इन्हें कोर वेब विटल्स के रूप में परिभाषित किया है:

LCP FID CLS in Search Console
LCP FID CLS in Search Console
  • Largest Contentful Paint (LCP): लोडिंग प्रदर्शन को मापता है। एक अच्छा उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने के लिए, एलसीपी को 2.5 सेकंड के भीतर होना चाहिए जब पृष्ठ पहले लोड करना शुरू कर देता है।
  • First Input Delay (FID): अन्तरक्रियाशीलता को मापता है। एक अच्छा उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने के लिए, पृष्ठों में 100 मिलीसेकंड से कम की FID होनी चाहिए।
  • Cumulative Layout Shift (CLS): दृश्य स्थिरता को मापता है। एक अच्छा उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने के लिए, पृष्ठों को 0.1 से कम का CLS बनाए रखना चाहिए।

इसके साथ कई सारे गाइडलाइन्स के आधार पर गूगल आपके कंटेंट को रैंक देता है पर हाल में Cumulative Layout Shift (CLS) का दिक्कत ज्यादातर ब्लोग्गेर्स को देखने को मिला है।

कोर वेब विटल्स को कैसे मापें?

इसके साथ गूगल के कुछ टूल जो ज्यादा प्रभावी नहीं थे अभी उनका उपयोग बढ़ गया है तो Core Web Vitals Issue को Fix करने में मददगार साबित हो सकते है, जो की निम्न है:

  • Search Console
  • PageSpeed Insights
  • Lighthouse
  • Chrome DevTools
  • Chrome UX report

Google Core Web Vital को कैसे ठीक करें

यहां बताया गया है कि SEO और Website Owner दूसरे प्रकार के उपयोगकर्ता अनुभव संकेतों को कैसे माप सकते हैं:

  • Mobile-Friendliness: Google के मोबाइल-अनुकूल परीक्षण का उपयोग करें।
  • Safe-Browsing: सुरक्षित ब्राउज़िंग के साथ किसी भी समस्या के लिए खोज कंसोल में सुरक्षा समस्याओं की रिपोर्ट की जाँच करें।
  • Https Security: यदि किसी पेज को सुरक्षित HTTPS कनेक्शन पर परोसा जाता है तो यह ब्राउज़र एड्रेस बार में लॉक आइकन प्रदर्शित करेगा।
  • Intrusive Interstitial Guidelines: यह एक Hard Trick है। एक घुसपैठिया अंतरालीय के रूप में जो मायने रखता है, उसके बारे में हमारी मार्गदर्शिका देखें।

Last Word:

निष्कर्ष:

जी हाँ दोस्तों, आपको आज की पोस्ट कैसी लगी, आज हमने आपको बताया How to Fix Google’s Core Web Vitals और Google Algoritham Updates बहुत आसान शब्दों में, हमने आज की पोस्ट में भी सीखा।

आज मैंने इस पोस्ट में Google Search Console में Core Web Vitals में CLS Issue को ठीक करें सीखा। आपको इस पोस्ट की जानकारी अपने दोस्तों को भी देनी चाहिए। वे और सोशल मीडिया पर भी यह पोस्ट ज़रूर साझा करें। इसके अलावा, कई लोग इस जानकारी तक पहुंच सकते हैं।

यदि आप हमारी वेबसाइट के नवीनतम अपडेट पाना चाहते है उसके लिए Sahu4You.com को Visit करते रहे साथ ही हमसे Facebook, Twitter और Instagram पर जरूर जुड़े।

Reading List