HTML Versions History

HTML History, Versions in Hindi: HTML का आविष्कार भौतिक विज्ञानी Tim Berners-Lee जिहोने 1989 में वेब (इंटनरेट) पर प्रकाश डाला था, उन्होंने 1991 में पहली बार HTML डिजाइन किया था।

इंटरनेट की तरह, HTML को स्विटजरलैंड के CERN अनुसंधान संस्थान प्रयोगशाला से भी शुरू किया गया था। खुद टिम बर्नर्स-ली को यह अहसास नहीं था की यह आविष्कार आगे चलकर इतने बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाएगा।

History of HTML – HTML Versions History

HTML के आविष्कार से पहले वेबपेजेस में सिर्फ Text को दिखाया जाता था, टीम के इस अविष्कार के बाद HTML टैग्स की मदद से Structure Sections, Headings, Links, Paragraphs,और Blockquotes बनाने और वेबपेज को Explain करने में मदद मिली.

शुरू में HTML आज के मुकाबले ज्यादा विकसित नहीं था पर समय के साथ HTML को अपग्रेड किया गया और HTML के कई संस्करण जारी किये गए जिसके बारे में अभी आप पढ़ेंगे:

संस्करणसाल
HTML 1.01991
HTML 2.01995
HTML 3.01996
HTML 3.21997
HTML 4.011999
XHTML 1.02000
HTML52014

HTML 1.0

HTML 1.0 दुनिया का सबसे पहला HTML संस्करण था। यह संस्करण SGML –Standart Generalized Markup Language का रूप था। उस समय ज्यादा लोग इंटरनेट पर वेबसाइट का निर्माण नहीं करते थे, क्यूंकि दुनियाँ इंटरनेट से अनजान थी. उस समय के HTML से आप सिर्फ साधारण वेबपेज का निर्माण ही कर सकते थे. उस समय जो HTML Tags इस्तेमाल किये जाते थे वो आज भी उपलब्ध है।

HTML 2.0

HTML 2.0 में पुराने HTML को थोड़ा एडवांस बनाया गया जिसमे Image Tags को सबके सामने रखा गया, अब आप वेब पेज में इमेज भी जोड़ सकते है इस संस्करण को एक समूह IETF Internet Engineering Task फाॅर्स द्वारा HTML के दूसरे संस्करण के रूप में सामने रखा और HTML 2.0 Version को 1995 में प्रकाशित किया गया। जिसमे Form Elements Such As Text Boxes, And Option Buttons, Change Of Page Background और Use Of Table की विशेषताओं को जोड़ा गया।

HTML 3.0

यह वो दौर था जब लोगो को इंटरनेट के महत्व के बारे में जानकारी मिली और इंटरनेट नए-नए वेबसाइट बनने लगे जिसमे HTML का उपयोग हो रहा था, तभी W3C द्वारा विशेष रूप से HTML 3.0 को तैयार किया गया पर इसके Browser Compatibility न होने के कारण IETF ने प्रोजेक्ट को रोक दिया गया और 14 महीनो बाद HTML का एक एडवांस रूप सभी के सामने पेश किया।

HTML 3.2

HTML 1.0 से लेकर संस्करण HTML 3.0 तक के सफर में, एक संगठन का निर्माण किया गया जो भविष्य में HTML पर कार्य करेगा जिसका नाम W3C – World Wide Web Consortium रखा गया। W3C ने संस्करण HTML 3.2 का प्रकाशन किया जिसमे बहुत सारे “Attribute” और Tables, Attribute Alignment, Images, Headings को जोड़ा गया और पहले के मुकाबले यह संस्करण बहुत सारे फीचर्स लेकर आया। इंटरनेट ब्राउज़र के उन्नत नहीं होने के कारण इन सभी सुविधाओं का समर्थन नहीं किया गया था।

HTML 4.01

अब इंटरनेट भी लोकप्रिय हो गया और ज्यादा से ज्यादा लोगो ने इसमें समर्थन किया और लोगो ने HTML सीखना शुरू कर दिया, और इधर HTML का अगला संस्करण HTML 4.0 को जारी कर दिया गया। जिसमें फ्रेम, JavaScript, CSS StyleSheet आदि विशेषताओं को जोड़ा गया। ब्राउज़र का समर्थन Microsoft द्वारा अपने Internet Explorer के द्वारा किया जो HTML को पूर्ण रूप से समर्थन करता था।

XHTML 1.0

एक बार HTML 4.0 मामूली गड़बड़ी हो गयी जिसके कारण W3C द्वारा 1999 को एक Revised संस्करण का निर्माण करना पड़ा जिससे HTML 4.01 कहा जाता है, जिसमे XML-based language XHTML का इस्तेमाल किया गया। आजकल लगभग वेबसाइट इसी HTML Version के साथ काम कर रही है।

HTML 5.0

HTML5 जनवरी 2008 में आया HTML का नवीनतम संस्करण है। इसने पुराने संस्करणों की सभी विशेषताओं को शामिल किया है। इसके अलावा, Dynamic Pages और Web Applications बनाने के लिए विभिन्न नई विशेषताओं को शामिल किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *