लाल किले के इतिहास की खास बातें

भारत के दिल्ली में लाल किले के पीछे का इतिहास काफी पुराना है। जानिए कब और किसने बनाया लाल किला, इस किले से किसने और किसने शासन किया, इससे जुड़ी कुछ रोचक जानकारी। Red Fort History In Hindi

History of Red Fort in Hindi
History of Red Fort in Hindi

भारत विविधताओं का देश है, मिट्टी में अंतर है, लेकिन इसके बावजूद हमारे देश को पूरी दुनिया में एकता की अटूट पहचान के रूप में जाना जाता है।

यह अपने आप में एक अद्भुत उदाहरण है, जो देश में कहीं और नहीं दिखता है। यहां की कलाकृति बहुत ही अद्भुत है, जो हमेशा विदेशियों के लिए आकर्षण का केंद्र बनी हुई है।

  • महाराणा प्रताप जीवनी – Maharana Pratap History in Hindi
  • Rao Tula Ram – Family, History & War in Hindi

लाल किले का इतिहास

भारत का एक पर्यटन स्थल बहुत प्रसिद्ध है, यहाँ की कलाकृतियों और मनोरम दृश्यों को देखने की लालसा दुनिया के हर कोने से लोगों को आकर्षित करती है। जो अपने आप में अद्भुत है। इस अद्भुत देश की एक बहुत प्रसिद्ध धरोहर, जिसे पूरी दुनिया में लाल किले के नाम से जाना जाता है। आज हम उसी के बारे में चर्चा करेंगे।

लाल किला और उसकी एक झलक

लाल किला का इतिहास काफी पुराना है। इसे RED FORTE के नाम से भी जाना जाता है, यह एक पौराणिक धरोहर है, इसे UNESCO के द्वारा 2007 में विश्व धरोहर घोषित किया गया है। यह एक ऐतहासिक किला है, जो भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित है। जिसका निर्माण मुग़ल साम्राज्य के पांचवे बादशाह शाहजहाँ ने बनवाया था।

इस किले को बनाने में लाल रेत –पत्थर का उपयोग किया गया है, और इस किले की दीवारें भी लाल रंग की बनी हुई है, या यूँ कहें की इस अनोखी धरोहर को बनाने में लाल रंग को ही प्राथमिकता दी गयी है, इसीलिए इस किले को लाल किला कहते है (रेड फोर्ट)।

Red Fort in Hindi
Red Fort in Hindi

लाल किला का निर्माण सन 1639 में हुआ था। इसी के साथ एक नए शहर का भी निर्माण इसी सदी में हुआ था, जो शाहजहानाबाद के नाम से जाना गया। लाल किला मुगलों के बादशाह शाहजहां की नई राजधानी शाहजहानाबाद का महल था। यह शहर दिल्ली की सातवीं मुस्लिमो शहर के नाम से जाना जाता था। यह किला मुस्लिम परम्पराओं और प्रतिमानों की एक खुबसूरत नक्काशी है, जिसमें मुस्लिम महलों की बहुत सारी प्रतिकृतियां दिखेंगी।

इसमें कही कहीं प्रेसिया जैसे देशों की भी हलकी सी झलक देखने को मिलेगी। सन 1546 में इस्लाम शाह के द्वारा बनाये गए सलीमगढ़ की तरह ही लाल किला का निर्माण किया हुआ है। इस किले के अंदर एक बहुत ही खबसूरत नहर –ए-बहिश्त है जो पानी के केन्द्र से जुडी हुई रंगमंच की कतारें जैसी प्रतीत होती हैं। लालर्ट के बाहर की और एक बहुत ही मनोवम बगिचा है जोर्ट की खूबसूरती में मानो चार चाँद लगाती है।

लाल किले का इतिहास

सन 1638 में शाहजहाँ ने अपनी राजधानी आगरा से दिल्ली करवाई थी उसी समय लाल किले का निर्माण करवाया गया था। शाहजहाँ के दो रंग बेहद पसंद थे ,वो थे सफ़ेद और लाल, उनकी दो कलाकृतियों को देखकर पता लगाया जा सकता है। एक ताजमहल है जिसका निर्माण सफेद संगमरमर से हुआ है और दूसरा है लाल किला जो पूरी तरह लाल रंग के पत्थरों से निर्मित किया गया है।

यह किला यमुना नदी के समीप बना हुआ है, जिस से इसका रंग रूप और भी अद्भुत हो जाता है। इस किले का निर्माण 13 मई 1638 से शुरू किया गया था और इसका पूर्ण निर्माण 1648 में हो गया था। जैसा की विदित है इस किले का निर्माण शाहजहाँ के द्वारा उनके शाषन काल में किया गया था, इसी वजह से यह उनकी रचनात्मकता का प्रतीक के रूप में माना जाता है।

सन 1712 में जहंदर शाह ने लाल किले को अपने कब्जे में कर लिया था, उसके बाद करीब 30 साल तक ला किला बिना शासक का ही रहा। वैसे तो इस ईमारत से जुडी हुई बहुत सारी ऐतहासिक बातें है। उन्ही में से एक ये भी है की 15 अगस्त 1947 को पंडित जवाहर लाल नेहरु, भारत के पहले प्रधानमंत्री ने लाहौर गेट पर भारतीय तिरंगा लहराया था। और तभी से हर स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री लाल किले पर तिरंगा फेहराते है और उसके बाद देश को संबोधित कर भाषान देते है। देश की आजादी के बाद लाल किले में बहुत बदलाव आये, इसका इस्तेमाल सैनिक प्रशिक्षण के लिए किया गया। 22 दिसम्बर 2003 तक यह किला सैनिकों के निगरानी में ही रहा।

लाल किले से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • लाल किले को बनाने में 10 साल लगे। इस किले को उस समय के प्रसिद्ध आर्किटेक्ट उस्ताद हामिद और उस्ताद अहमद ने बनवाया था। यह 1638 में शुरू किया गया था, और निर्माण 1648 में पूरा हुआ था।
  • जो कोहिनूर हीरे से अनजान है, जो उसी कोहिनूर हीरे को अपने मुकुट में लगाता था, जो कि उसके दीवाने खास को गौरवान्वित करता था।
  • लाहौर गेट को लोग लाल किले के प्रवेश द्वार के रूप में भी जानते हैं। इस किले के दो द्वार हैं – एक है दिल्ली गेट और दूसरा है लाहौर गेट। शाहजहाँ लाहौर की ओरबहुत आकर्षित था, इसलिए उसे लाहौर गेट का नाम दिया गया।
  • Bird Eye View को ध्यान में रखते हुए, लाल किले को एक अष्टकोणीय आकार दिया गया है।
  • जब बहादुर शाह को अंग्रेजों ने हराया था, तो उन्हें अपने ही किले यानी लाल किले में अंग्रेजों ने बंदी बना लिया था।

निष्कर्ष: Red Fort History

जी हाँ दोस्तों आपको आज की पोस्ट कैसी लगी, आज हमने आपको बताया कि लाल किले का इतिहास और लाल किले से जुडी जानकारी बहुत ही आसान शब्दों में हमने भी आज की पोस्ट में सीखा।

Red Fort History In Hindi आज मैंने इस पोस्ट में सीखा। आपको इस पोस्ट की जानकारी अपने दोस्तों को भी देनी चाहिए। तथा Social Media पर भी यह पोस्ट ज़रुर Share करे। इसके अलावा, कई लोग इस जानकारी तक पहुंच सकते हैं।

यदि आप हमारी वेबसाइट के नवीनतम अपडेट प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको हमारी Sahu4You की Website को Subscribe करना होगा। नई तकनीक के बारे में जानकारी के लिए हमारे दोस्तों, फिर मिलेंगे आपसे ऐसे ही New Technology की जानकारी लेकर, हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के लिए धन्यवाद, और अलविदा दोस्तों आपका दिन शुभ हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *