SEO - सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है?

seo

January 4, 2024 (4mo ago)

SEO यानी सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन एक तरीका है जो किसी वेबसाइट या वेब पेज पर सर्च से आने वाला ट्रैफिक की गुणवत्ता और उसकी मात्रा को बेहतर बनाने की प्रक्रिया है।

What is SEO in Hindi?

SEO यानी सर्च इंजन अनुकूलन। जैसे इसके नाम से ही पता चलता है, यह वेबसाइट को सर्च इंजन (गूगल, बिंग आदि) के लिए अनुकूल यानी ऑप्टिमाइज़ करने की प्रक्रिया को कहते हैं।

जब आप किसी क्वेरी के लिए सर्च करते हैं तो सबसे ऊपर रैंकिंग वाली वेबसाइटें ही दिखती हैं। SEO का काम आपकी वेबसाइट को इन सर्च रिजल्ट्स में टॉप पर लाना होता है ताकि आपको ज्यादा ऑर्गेनिक ट्रैफिक मिले।

SEO में ऑन-पेज और ऑफ-पेज ऐसे दो फैक्टर्स हैं। ऑन-पेज SEO में कंटेंट की गुणवत्ता, कीवर्ड्स का इस्तेमाल, हेडिंग्स, मेटा डिस्क्रिप्शन जैसी चीजें शामिल होती हैं। वहीं ऑफ-पेज में बैकलिंक बिल्डिंग जैसे टास्क आते हैं जिनसे रैंक और बेहतर होती है।

आज SEO एक जरूरी मार्केटिंग टूल बन चुका है। अगर आपकी वेबसाइट SEO फ्रेंडली नहीं है तो उसे कम ही ट्रैफिक मिलेगा। इसलिए हर बिज़नेस को अपनी SEO स्ट्रैटेजी तैयार करनी चाहिए और समय-समय पर इसे अपडेट करते रहना चाहिए।

SEO कितने प्रकार के होते हैं?

अगर आपका ब्लॉग नहीं है तो आपको यह पोस्ट अंत तक पढ़ना चाहिए जिसमें हमने seo के बारे में पूरी जानकारी दी है seo दो प्रकार की होती है:

  • On page seo
  • Off page seo

यदि आपकी वेबसाइट पहले सर्च पेज पर दिखाई देती है, तो आपके पास वेब ट्रैफ़िक और खोज ट्रैफ़िक वृद्धि होगी, ऑनलाइन व्यापार बढ़ता है और ऑफ़लाइन कमाई भी एसईओ को दो प्रकार से किए गए search engine optimization पर कुछ हद तक निर्भर करती है।

On-page seo और off-page seo का मतलब है कि ऑन-पेज एसईओ आपके ब्लॉग पोस्टों में inter-linking वेबसाइट की loading speed में शीर्षक जोड़कर सभी tags और keywords को title tag permalink को optimize करना है।

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन कैसे काम करता है

हम अपनी वेबसाइट को लोगों के लिए सुलभ बनाने के लिए seo का उपयोग करते हैं।

मान लीजिए मैंने एक वेबसाइट बनाई है और उसमें सबसे अच्छी उच्च गुणवत्ता वाली सामग्री प्रकाशित करता है, लेकिन अगर मैं एसईओ का उपयोग नहीं करता हूं, तो मेरी वेबसाइट लोगों तक नहीं पहुंच पाएगी और मेरी वेबसाइट बनाने का कोई लाभ नहीं होगा।

Business के लिए seo कैसे काम करता है?

यदि आप seo का उपयोग नहीं करते हैं, जब भी कोई उपयोगकर्ता कीवर्ड खोजता है, तो यदि आपकी वेबसाइट में उस कीवर्ड से संबंधित कोई सामग्री है, तो उपयोगकर्ता आपकी वेबसाइट तक नहीं पहुंच पाएगा क्योंकि खोज इंजन हमारी साइट को खोजने में सक्षम नहीं होगा ना ही हमारी वेबसाइट।

Seo को समझना इतना मुश्किल नहीं है, अगर आप इसे सीख लेते हैं, तो आप अपने ब्लॉग को बहुत बेहतर बना सकते हैं और search engine में इसके मूल्य को बढ़ा सकते हैं।

जब आप seo के बाद अपने ब्लॉग के लिए क्वालिटी कंटेंट प्रकाशित करते हैं, तो आपको उसका रिजल्ट तुरंत नहीं दिखेगा, इसके लिए आपको धैर्य रखना होगा और अपना काम करते रहना होगा। क्योंकि सब्र का फल मीठा होता है और आपको अपनी मेहनत का रंग जरूर दिखेगा।

Seo टूल्स कैसे काम करते हैं जैसे कि ranking या traffic के लिए एसईओ कैसे करना है, यह महत्वपूर्ण क्यों हो जाता है। आइए हम search engine optimization के महत्व के बारे में अधिक जानते हैं:

  • अधिकांश उपयोगकर्ता अपने प्रश्नों के उत्तर पाने के लिए इंटरनेट में search engines का उपयोग करते हैं।
  • ऐसी स्थिति में, वे search engine द्वारा दिखाए गए top results पर अधिक ध्यान देते हैं। ऐसे में अगर आप भी लोगों के सामने आना चाहते हैं, तो आपको ब्लॉग को रैंक करने के लिए seo की मदद भी लेनी होगी।
  • Blog seo केवल search engines के लिए ही नहीं है, बल्कि best seo practice होने से, यह उपयोगकर्ता अनुभव को बढ़ाने में मदद करता है और आपकी वेबसाइट की उपयोगिता को भी बढ़ाता है।
  • उपयोगकर्ता ज्यादातर केवल शीर्ष परिणामों पर भरोसा करते हैं और इससे उस वेबसाइट का विश्वास बढ़ता है। इसलिए एसईओ के संदर्भ में जानना बहुत जरूरी है।

एसईओ आपकी साइट के social signals के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि जो लोग आपकी साइट को google जैसे search engine में देखते हैं, तो वे ज्यादातर उन्हें सोशल मीडिया जैसे कि facebook, twitter, pinterest में साझा करते हैं।

किसी भी साइट के website traffic को बढ़ाने में seo महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Seo आपको किसी भी प्रतियोगिता में आगे रहने में मदद करता है। उदाहरण के लिए, यदि दो वेबसाइट समान चीजें बेच रही हैं, तो जो वेबसाइट seo optimized है, वह अधिक ग्राहकों को आकर्षित करती है और उनकी बिक्री में भी वृद्धि होती है, जबकि अन्य ऐसा करने में सक्षम नहीं होते हैं।

1. On-Page SEO

कुछ ब्लोग्गेर्स की सोच होती है की केवल एक अच्छा content लिखने से वो सर्च इंजन में अच्छी रैंक पर आ जायेगा और आपको web traffic मिलना स्टार्ट हो जायेगा पर search engine के अल्गोरिद्म सेट होते है उन्हें फॉलो करना काफी हद तक महत्वपूर्ण होता है.

On page seo को basic और starter seo भी कहा जाता है। इसमें आपको अपने ब्लॉग पोस्ट को seo के टेक्टिक्स के हिसाब से ऑप्टिमाइज़ करना होता है:

  • अपने पेज के टाइटल और पेज कॉपी में कीवर्ड का उपयोग करना।
  • Serp के लिए अपने ब्लॉग पोस्ट के Meta description ऑप्टिमाइज़ करना।
  • Html कोड और Alt tags का उपयोग करना।

On page seo optimization क्यों जरुरी है?

Google जैसे search इंजन में अपने कंटेंट को हाई कॉम्पिटीसन में first page पर लेकर आना एक challenge जैसा होता है उसके लिए आपको अपने कंटेंट को seo के साथ ऑप्टिमाइज़ करना होगा, ऐसे में हर एक ब्लॉगर के लिए seo करना जरुरी होता है और इस पोस्ट में seo optimization tips को अच्छे से आपको सिखाऊंगा.

कंटेंट को बेहतर पोजीशन देने के लिए lsi keyword (अव्यक्त अर्थ सूचकांक) का इस्तेमाल पोस्ट में करें जिससे similar keywords के बीच का संबंध google को दिखा सके जिससे आपकी कंटेंट को अच्छी वैल्यू मिलेगी.

2. Off-Page SEO

Offside seo और off-page seo के साथ, इसका मतलब है कि अपनी वेबसाइट को दूसरी वेबसाइट पर काम करके विकसित करना, इसके लिए वेबसाइट को आउटबाउंड लिंक्स, बैकलिंक और गेस्ट पोस्ट, सोशल मीडिया ट्रैफ़िक, वेब सबमिशन तथा अन्य ब्लॉग टिप्पणी का उपयोग करके विकसित करने की तकनीक को offpage seo कहते है।

  • Search engine submission: अपने ब्लॉग को सर्च इंजन में अच्छे से सबमिट करें जिससे सभी सर्च इंजन आपके ब्लॉग की सभी ब्लॉग पोस्ट को crawl करके इंडेक्स कर पाए
  • Bookmarking for seo: आपके ब्लॉग या वेबसाइट के पेज को बुकमार्क की वेबसाइट पर एड करना चाहिए जिससे आपकी वेबसाइट के अच्छे लिंक बन पाये।
  • Directory submission: अपने ब्लॉग वेबसाइट को डायरेक्टरी सबमिशन वेबसाइट पर सबमिट करें और ध्यान रहे वो नहीं डैडी वेबसाइट पर सबमिट करें जिनकी हाई pr अथॉरिटी और वैल्यू अच्छी हो।
  • Social media sharing: अभी आप अपनी वेबसाइट पर कुछ नया कंटेंट पब्लिश करते है तो उसे सभी सोशल मीडिया वेबसाइट जैसे फ़ेसबुक ट्विटर, टम्बलर और पिनटेरेस्ट पर भी शेयर करें जिससे ससि मीडिया में आपके ब्लॉग पोस्ट की विजिबिलिटी बढे।
  • Classified submission: आप प्रश्न और उत्तरों के साथ वेबसाइट पर जा सकते हैं और कोई भी प्रश्न पूछ सकते हैं और अपनी साइट पर एक लिंक डाल सकते हैं।
  • Blog comments: आप अन्य ब्लॉग पर कॉमेंट करके बैकलिंक बना सकते हैं, कॉमेंट द्वारा बेहतरीन बनाना सबसे आसान और मुफ़्त तरीक़ा है।
  • Guest posting: आप अपने से मिलती जुलती वेबसाइट पर है गेस्ट पोस्ट करके वहाँ से अच्छे लिंक बना सकते हैं गेस्ट पोस्टिंग आपको प्राकृतिक रूप से आपको अच्छे बैकलिंक्स देता है।

Seo learning हर किसी के लिए अच्छा है, इसके द्वारा आप अपना खुद का बिज़नेस बड़ा सकते हैं और seo jobs आपके लिए कई और विकल्प खोलते हैं उपयोगी meta tags या quality content, आप अच्छा ट्रैफ़िक प्राप्त कर सकते हैं।

क्या आपका ब्लॉग अभी नया है और आपके ब्लॉग पोस्ट पर अच्छा organic ट्रैफिक नहीं आ रहा है तो आपको यह पोस्ट शुरू से लेकर अंत तक पढना चाहिए क्युकी आज के इस पोस्ट में हम ओन-पेज एसईओ तकनीकों पर चर्चा करेंगे और seo से ब्लॉग को optimize करने के बारे में सीखेगे और search engine में अपने content को optimize कैसे करें? अपने ब्लॉग का traffic increase कैसे करे?

उसके बारे में बतायेंगे क्युकी बहुत सारे ब्लोग्स ऐसे होते है जो कितना भी अच्छा कंटेंट क्यूँ न लिखे पर उन्हें google search engine से बिलकुल भी ट्रैफिक नहीं नमिलता ऐसे में मेरी बताई गयी 20+ seo optimization tips आपके लिए काफी लाभदायक होगी.

तो दोस्तों आज का On page seo लेख यहीं खत्म होता है आज आपने seo के बारे में बहुत कुछ सिखा जो 1% भी आपके के लिए उपयोगी है तो मुझे उसमे मुझे ख़ुशी होगी: seo optimization करने के tips आपको बताया जिससे 2019 में seo को बेहतर बनाने के लिए यह टिप्स उपयोग कर सकते है.

  • Sep और ppc
  • Seo और adwords

भारत में SEO करने के सभी प्रमुख पहलुओं को समझें - स्थानीय भारतीय भाषाओं में कीवर्ड को Target करने से लेकर नवीनतम Google Algorithm Updates को ट्रैक करने तक।

इन नियमों और श्रेणियों पर ध्यान केंद्रित करने से भारतीय खोज परिणामों में better organic rankings और visibility के लिए वेबसाइटों को optimize करने में मदद मिलेगी।

Category

Keywords/Terms

General SEO Terms

Search engine optimization, Organic rankings, Backlinks, Keyword research, On-page optimization, Off-page optimization, Link building, Site architecture, Site speed, ui/ux, Content marketing

Keyword Research

keyword volume, search intent, competition, CPC, trends

On-Page Optimization

Title tags, Meta descriptions, Headings, image optimization, Site speed, structured data, internal linking, url structure

Off-Page Optimization

backlinks, link building, guest posting, broken link building, outreach, link reclamation

Content Optimization

blogging, long-form content, pillar content, LSI keywords, semantic keywords, readability

Technical SEO

structured data, schema markup, site maps, robots.txt, crawl errors, indexation issues

Local SEO

Google My Business, local citations, locality keywords, maps listings

Analytics & Tracking

Google Analytics, Google Search Console, rank tracking, CTR, dwell time, bounce rate

Link Metrics

domain authority, page authority, trust flow, citation flow, MozRank

Indian Languages

Hindi SEO, Tamil SEO, Bengali SEO, Marathi SEO, targeting regional keywords

SEO Tools

Ahrefs, SEMrush, Moz, Screaming Frog, Surfer SEO, Rank Math

Latest Updates

E-A-T metrics, passage indexing, featured snippets optimization

व्यापक सूची में competitive Indian queries में Rankings के लिए विचार करने के लिए बुनियादी और उन्नत तकनीकी SEO दोनों कारक शामिल हैं।

यदि आपको किसी स्पष्टीकरण की आवश्यकता है या जोड़ने के लिए अतिरिक्त आवश्यकताएं हैं तो कृपया मुझे बताएं।

Enjoy this article? Feel free to share!

Gradient background