व्यक्तिवाचक संज्ञा (Vyakti Vachak Sangya) के भेद परिभाषा और उदाहरण

व्यक्तिवाचक संज्ञा की परिभाषा: किसी भी विशेष व्यक्ति, वस्तु या स्थान के नाम का बोध कराने वाली संज्ञा ही व्यक्तिवाचक संज्ञा कहलाती हैं। यानी, व्यक्तिवाचक संज्ञा सभी व्यक्ति, वस्तु या स्थान की संपूर्ण जाती में से ख़ास का नाम बताती हैं।

उदाहरण के लिए:

  • रमेश (व्यक्ति का नाम)
  • आगरा (स्थान का नाम)
  • बाइबल (क़िताब का नाम)
  • ताजमहल (भवन का नाम)
  • एम्स (अस्पताल का नाम) इत्यादि।

जैसे:

  1. व्यक्ति- महात्मा गाँधी, भगत सिंह, रमेश, पवन, सीमा, विकास आदि।
  2. वस्तु- कुरान, बाइबल, रामायण आदि।
  3. स्थान- बैंगलोर, दिल्ली, मुंबई, लखनऊ आदि।

व्यक्ति संज्ञा के कुछ उदाहरण:

1. विकास फुटबॉल खेलता है।

2. करण मेरा दोस्त है।

3. योगेश एक उपन्यासकार हैं।

4. मनीष एक महान फुटबॉल खिलाड़ी हैं।

5. रमन इतिहास के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं।

6. सुमित को मास्टर ब्लास्टर के नाम से भी जाना जाता है।

7. विजय भगत अंग्रेजी में उपन्यास लिखते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *