Web Hosting क्या है- वेब होस्टिंग की पूरी जानकारी

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि , Web Hosting kya hai (क्या है), Web Hosting कितने प्रकार की होती है ? आज के वक़्त में अपना खुद का एक website होना बहुत बड़ी और बहुत ज़रूरी बात है।अपनी वेब साइट को बनाने के लिए आप को दो बाते जाननी बहुत आवश्यक हैं पहला ये की डोमेन नेम क्या है Domain Name Kya hai ? डोमेन रजिस्ट्रेशन क्या होता है ? Domain Name Registration Kya hota hai और दूसरी बात ये की वेब होस्टिंग क्या है या Web Hosting kya hai.। कई बार इसे डोमेन होस्टिंग भी कहा जाता है

Web Hosting Kya Hai
Web Hosting Kya Hai

Domain Name Kya hai ? डोमेन रजिस्ट्रेशन क्या होता है

आप उदाहरण के लिए कोई भी वेबसाइट भी वेबसाइट ले सकते हैं जैसे हम यहां अपनी वेबसाइट www.kaisesikhe.com की बात कर रहे हैं । जब हमने इस ब्लॉग को शुरू करने के बारे में सोचा होगा तो हमे अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का नाम भी डिसाइड करना पड़ा होगा । आप की वेबसाइट का नाम ही डोमेन नेम कहलाता है ।

Example: www.facebook.com, www.sahu4you.com, www.wordpress.com. www.google.co.in

ये सारे डोमेन के नाम हैं जिन्हें इन्टरनेट पे लांच करने से पहले ख़रीदा गया होगा ।

Domain Name कहाँ से ख़रीदे

किसी भी नए डोमेन को खरीदने की पहली शर्त ये हैं कि उस नाम का डोमेन उपलब्ध होना चाहिए। अगर उस नाम का डोमेन किसी और ने खरीद लिया है तो आप उस डोमेन को खरीद नहीं सकते है । सामान्यतया डोमेन नाम १ वर्ष या 1 year के लिए ख़रीदे जाते हैं और पहली बार किसी डोमेन को खरीदने पर अच्छा और आकर्षक ऑफर भी मिलता है । नए डोमेन नाम की कीमत 99 रुपये से लेकर 800 रुपये तक हो सकती है 1 साल के लिए । नए डोमेन को खरीदने के लिए आप को ऑनलाइन पेमेंट करना पड़ता है । १ वर्ष पूरे होने पर आपको फिर से renewal करना पड़ता है । renewal का खर्च भी लगभग इतना ही आता है आप नए डोमेन को इन वेबसाइट से खरीद सकते हैं

Doamin Name Providers: www.godaddy.com, www.bigrock.com, www.namecheap.com

और कई सारी वेबसाइट हैं जहाँ से आप ऑनलाइन नई डोमेन खरीद सकते हैं| चलिए अब web hosting के बारे हिंदी में जान लेते है.

Web Hosting क्या है – What is Web Hosting In Hindi

Web Hosting का मतलब है कि आप के डोमेन नेम से या वेबसाइट के नाम से खुलने वाले वेब पेजेज को किसी ग्लोबल जगह (दूसरे कंप्यूटर )पर स्टोर करना । ऐसी जगह जो 27X7 on रहे| जहाँ पर आपकी वेबसाइट के वेब पेज और इनफार्मेशन स्टोर किये जाए

जब आपका computer कोई public network से जुड़ जाता है, तो वो भी Internet का एक हिस्सा बन जाता है. जिससे आप web server या web host भी कह सकते हैं.तो आप ये सोच रहे होंगें, के अगर आपका computer भी एक server है तो दूसरे लोग इससे क्यों नहीं देख पाते? इसका जवाब ये है के, हर computer और mobile में privacy और security रहता है, इसीलिए दुसरों इसे access नहीं कर पाते. अगर आप इसी security को हटा के public access दे देते है तो हर कोई आपकी computer में रखे गए contents को देख पायेगा|

Web hosting (web server) सारे websites को Internet मे जगह देने की सेवा प्रदान करता है जिसके वजह से किसी एक व्यक्ति या organization के website को पूरी दुनिया मे Internet के ज़रिए access किया जा सकता है| “जगह देने ” है से हमारा मतलब है की आपके website के files, images, videos, etc को एक special computer पे store करके रखता है जिसको हमweb server कहते हैं. वो computer हर वक़्त 24×7 Internet से connected हो कर रहता है. Web hosting की सेवा हमे बहुत सारे companies प्रदान करते हैं जैसे Godaddy, Hostgator, Bluehost, etc. और इनको हम web host भी कहते हैं. एक हिसाब से हम ये भी कह सकते हैं की अपने वेबसाइट को दूसरे high powered computers (web servers) मे store करके रखने के लिए हम उन्हे किराया देते हैं जैसे हम किसी और के घर मे रहने के लिए किराया देते हैं ठीक उसी तरह.

जब हम अपना website बनाते हैं तो हम यही चाहते हैं की हम अपना knowledge और information लोगों के साथ बाटें, तो उसके लिए हमे पहले अपने Files को Web hosting पर upload करना पड़ता है. ऐसा कर लेने के बाद, जब भी कोई Internet यूज़र अपने web browser(Mozilla Firefox, Google Chrome, Opera) पे आपका domain name टाइप करता है जैसे मान लीजिए https://www.sahu4you.com, फिर उसके बाद Internet आपके domain name को उस web server से जोड़ देता है जहाँ आपके website का फाइल्स पहले से ही store हो कर रखा गया है. जोड़ने के बाद website का सारा information उस यूज़र के कंप्यूटर मे पहुँच जाता है फिर वहाँ से यूज़र अपने ज़रूरतो के हिसाब से पेज को view करता है और ज्ञान ग्रहण करता है.

पूरी दुनिया में बहुत सारी Companies है जो बेहतर से बेहतर Hosting Service Provide करते है. अगर आप चाहते है के आपके सारे Visitors India से ही हो, तो आपको India से hosting खरीदना ज़्यादा अच्छा रहेगा। आपकी hosting का server आपके country से जितना दूर रहेगा, website को access करने में आपको उतना time लगेगा। अगर आप India के जितने web hosting providers है, उनसे hosting खरीदते है तो आपको उसके लिए credit card की जरुरत नहीं पड़ेगी । आप अपने ATM card या फिर Internet banking के जरिये खरीद सकते है. एक बार आप hosting खरीद लेते है तो आप आसानी से उसको अपने Domain name के साथ जोड़ कर access कर सकते हैं. नीचे आपको कुछ website के नाम मिलेंगे, जिनपे यकीन किया जा सकता है और इनकी सर्विस भी बहुत अच्छी है

Web Hosting Providers: Hostgator India, Godaddy, BlueHost and BigRock.

Web Hosting Kya hai, Domain Name Kya hai, वेब होस्टिंग क्या है वेब होस्टिंग (Web Hosting)खरीदते वक़्त रखे इन बातो का ध्यान रखे.

Web Hosting खरीदते वक़्त रखे इन बातो का ध्यान रखे

Web Hosting Kya Hai ये जानने के बाद Web Hosting खरीदने केलिए आपके पास बहुत सारे options आयेंगे, पर आपको ये decide करना पड़ेगा के आपके जरूरतों के हिसाब से कौनसा company ठीक रहेगा. Hosting खरीदने से पहले कुछ जानकारिय होना बेहद जरुरी है.

Disk Space: Disk Space होता है आपके hosting का storage capacity. जैसे आपके computer में रहता है 500GB और 1TB space, उसी तरह hosting में भी storage रहता है. हो सके तो unlimited disk space वाला hosting खरीदें. इससे आपको कभी disk full होने का खतरा नहीं रहेगा.

Bandwidth: एक second में आपकी website के कितने data access कर सकते है उसे हम bandwidth कहते है. जब कोई आपकी website को access कर रहा होता है तो आपकी server कुछ data use करके उसे information share करता है. अगर आपका bandwidth कम है और आपके website को ज्यादा visitor access कर रहे है तो आपकी website down हो जायेगा.

Uptime: आपकी website जितने time online या available रहता है उसे uptime कहते है. कभी कभी कुछ problems के कारण आपका website down हो जाता है, मतलब खुल नहिं पता. उसे हम downtime कहते है. आज कल हर company 99.99% uptime के guarantee देते है.

Customer Service: हर hosting company कहती है वो 24×7 customer service provide करते है. पर आखिर में ऐसा नहीं होता . हमे इस बात का बहुत ध्यान चाहिए की वास्तव में कंपनी का सपोर्ट सिस्टम अच्छा है भी नहीं । आप चाहे तो Internet पे उस कंपनी के रिव्यु पढ़ सकते हैं| सर्विस से जुडी सारी जानकारी लेने के बाद ही होस्टिंग खरीदने का प्लान बनाये |

अब चलिए ये जाने कि होस्टिंग कितने तरह की होती है

Web Hosting कितने तरह की होती है – Types of Web Hosting

अगर ऑपरेटिंग सिस्टम और प्लेटफॉर्म के आधार पर देखें तो होस्टिंग 2 प्रकार की होती है

  • Linux Hosting
  • Windows Hosting

Linux Hosting :
ऐसी होस्टिंग जहाँ पर आप को वेबस्पेस उस कंप्यूटर पर मिले जिस पर लिनक्स Linux इनस्टॉल है तो ऐसी होस्टिंग को लिनक्स होस्टिंग कहते हैं । ऐसी होस्टिंग पर सामान्य तौर पर सिर्फ php के वेबपेज ज़्यादा अच्छा सपोर्ट करते हैं । इस होस्टिंग को खरीदने पर लागत थोड़ी कम आती है

Windows Hosting :
ऐसी होस्टिंग जहाँ पर आप को वेबस्पेस उस कंप्यूटर पर मिले जिस पर Windows इनस्टॉल है तो ऐसी होस्टिंग को Windows होस्टिंग कहते हैं । ऐसी होस्टिंग पर सामान्य तौर पर ASP के वेबपेज ज़्यादा अच्छा सपोर्ट करते हैं | linux Hosting की तुलना में windows Hosting की लागत थोड़ी ज़्यादा आती है |

Hosting खरीदते समय आपके पास दो options रहते है. एक है Linux का और दूसरा है है Windows का. कभी अपने ये सोचा है के दोने में क्या फर्क है? आप दोनों में से कोई भी hosting use कर सकते है, पर Windows hosting थोडा महंगा पड़ता है. Linux एक open source operating system है, तो इसीलिए इसे use करने केलिए hosting company को पैसे देने नहीं पड़ते. इसीलिए ये सस्ता होता है.

पर Windows के license केलिए company को पैसे देने पड़ते है, इसीलिए ये महंगा है. दोनों ही server बहुत बढ़िया है पर Windows को Linux से ज्यादा secure माना जाता है. आप ज्यादातर blog और websites को Linux के server में ही पाएंगे, क्यूँ की ये सस्ता होते है और Windows से ज्यादा features देते है.

अब जानते है वेबसाइट की सपोर्ट के व्यवस्था के अनुसार वेब होस्टिंग कितने तरह के होते हैं. Web hosting बहुत से प्रकार का होता है, लेकिन आज के वक़्त मे जो सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है हम सिर्फ़ उन्ही के बारे मे जानेगे. तो मूल रूप से web hosting 4 प्रकार के होते हैं.

  • Shared Web Hosting
  • Reseller Web Hosting
  • VPS (Virtual Private Server) Web Hosting
  • Dedicated Web Hosting

Shared Web Hosting Kya Hai

जब हम घर से बहार कहीं पढने जाते हैं या job के लिए जाते हैं तो हम एक किराये वाले घर में रहते हैं जहाँ हमारे साथ और भी बहुत से दुसरे लोग एक साथ एक ही रूम share करते हैं ठीक उसी तरह shared web hosting भी ऐसा ही काम करता है. Shared web hosting में एक ही server होता है जहाँ हजारों websites के files एक साथ एक ही server computer में store हो कर रहता हैं इसलिए इस hosting का नाम shared रखा गया है. Shared web hosting उन लोगों के लिए सही है जिन्होंने अपना website नया नया बनाया हो क्यूंकि ये hosting सबसे सस्ती होती है. इस hosting से आपको तब तक मुसीबत नहीं झेलनी पड़ेगी जब तक आपका website प्रसिद्ध न हो जाये और जब आपके websites में visitor बढ़ने लगेंगे तो आप अपना hosting change भी कर सकते हैं. जैसा की ये shared web server है अगर कोई website बहुत व्यस्त हो जाये तो बाकि सारे website उसके कारण धीमें हो जायेंगे और उनके page को खुलने में वक़्त लग जायेगा, ये इस web hosting का सबसे बड़ा demerit है. Shared hosting का इस्तेमाल ज्यादा तर नए bloggers ही करते हैं. इसमें बहुत सारे users एक ही system का CPU, RAM प्रयोग करते है.

Reseller Web Hosting Kya Hai

अगर आप कोई छोटी सी सॉफ्टवेर कंपनी खोलना चाहते हैं या कई लोगों की वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो सिंगल वेबसाइट होस्टिंग के Re seller plan को आप ले सकते हैं । इससे १ वेबसाइट पर आने वाली लगत बहुत कम हो जायेगी और हर वेबसाइट एक दूसरे से अलग भी रहेगी । ये Share Hosting से थोड़ा अलग है । इसमें हर वेबसाइट का अलग से control Panel या Cpanel होता है| आप 100 Website या डोमेन के लिए रिसेलर होस्टिंग ले तो ज़्यादा बेहतर होगा

VPS Web Hosting Kya Hai (Virtual Private Server )

VPS hosting एक hotel के रूम की तरह होता है. जहाँ उस room के सारे चीजों पर बस आपका हक रहता है. इसमें और किसीका भी शेयरिंग नहिं होता. VPS hosting में visualization technology का प्रयोग किया जाता है. ज्सिमे एक strong और secure server को virtually अलग अलग हिस्सों में divide कर दिया जाता है. पर हर एक virtual server केलिए अलग अलग resource use किया जाता है. जिससे आपके website को जितना resource की जरुरत होता है वो उतना use कर सकता है. यहाँ आपको दूसरे किसी website के साथ share करना नहीं पड़ता और आपके website को best security और performance मिलता है. ये hosting थोडा costly है और ज्यादा visitor वाले website प्रयोग करते हैं. अगर आपको कम पैसो में dedicated server जैसे performance चाहिए तो आपके लिए VPS best है.

Dedicated Web Hosting Kya Hai

जीस तरह shared hosting में बहुत से website एक ही server का जगह share करते हैं dedicated hosting उसका पूरा ही उल्टा है. इसका उधारण ठीक वैसा ही है जैसे एक व्यक्ति का अपना एक बड़ा सा घर होता है और उसमे किसी और को रहने के लिए इज़ाज़त नहीं होती और उस घर की सारी ज़िम्मेदारी केवल उस व्यक्ति की होती है, dedicated hosting का काम भी कुछ ऐसा ही है. Dedicated hosting में जो server होता है वो सिर्फ और सिर्फ एक ही website का files store करके रखता है और ये सबसे तेज server होता है. इसमें sharing नहीं होता है. और ये hosting सबसे मेहेंगी होती है क्यूंकि इसका पूरा किराया केवल एक ही व्यक्ति को भरना पड़ता है. जिनकी website पर हर महीने ज्यादा visitor आते हैं ये hosting सिर्फ उनके लिए ही सही है. और उनके लिए भी जो अपने website से ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं.

बहुत सारे e-commerce site जैसे Flipkart, Amazon, Snapdeal dedicated hosting ही प्रयोग करते हैं. अगर आप ने वेब डोमेन नेम (Domain Name) कहीं और से ख़रीदा है और होस्टिंग कहीं और से खरीदी है तो आपको अपने Domain Name के कण्ट्रोल पैनल में अपने Web Hosting वाले Server का DNS (Domain Name Server ) अपडेट करना पड़ेगा

तो दोस्तों ये थी एक बड़ी और बहुत ही महत्त्वपूर्ण जानकारी की वेब होस्टिंग क्या है (Web Hosting Kya hai )|अगर आप को ये पोस्ट पसंद आयी होतो लिखे ज़रूर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 Comments

  1. Tirthdeo Sikdar says:

    Super bhai …. Aapka post bahut bara hai 😋

  2. Priya shukla says:

    Hello sir AAP kon sa hosting ka istemaal krte h plz details me btaiye mai naya blog start krna chahti hu lekin aap ye btaye ki aap kon sa hosting use krte h or kitna khrcha hosting ka aaata h sal bhar ka

  3. विकास साहू says:

    digital oceane ki hosting istemaal kar rahe rahen hai