ACP

August 23, 2023 (1y ago)

क्या आप ACP Full Form जानना चाहते हैं तो यहां हम आपको Assistant Commissioner of Police के बारे में पूरी जानकारी देंगे। जानिए ACP को हिंदी में क्या कहते हैं और इसके बारे में जानकारीपूर्ण परिभाषाएं जिनका उपयोग हम दैनिक जीवन में करते हैं लेकिन उनका पूरा नाम नहीं जानते हैं।

What is the Full Form of ACP

ACP

Assistant Commissioner of Police

Category

Police

Region

India

एसीपी का फुल फॉर्म क्या है?

ACP का फुल फॉर्म Assistant Commissioner of Police होता है, सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) भारतीय पुलिस सेवा में एक रैंक है।

सहायक आयुक्त पुलिस जो की प्रांतीय बलों के सदस्य होता हैं, सीमित सेवा के बाद उसे आईपीएस के लिए पदोन्नत किया जा सकता है, जो राज्य के आधार पर 8 से 15 वर्षों के बीच भिन्न होता है।

ACP को Central Exercise, Income Tax, Service Tax, Custom जैसे पद के लिए भी प्रशासन के सेवा में उपयोग किया जाता है। इसके अलावे पुलिस विभाग में और कई पद होते हैं जैसे DGP, IAS, ADGP इत्यादि।

Assistant Commissioner of Police

ACP भारतीय पुलिस सेवा में उच्च रैंक में से एक है, ACP और DSP दोनों का Rank Police Department में समान्य होता है दोनों के पास 3 Stars होते है।

ACP या तो State Police का Part होता है या फिर IPS\ का होता है, ACP जो की एक Provincial Police Forces (PPF) से संबंधित होता हैं वह इस पद के लिए प्रत्यक्ष प्रवेशकों होता है या फिर Inspector से पदोन्नत होता है।

आज आपने सिखा, ACP का फुल फॉर्म क्या होता है, Assistant Commissioner of Police की हिन्दी में जानकारी, अगर आपका इससे जुड़ा कोई सवाल और जवाब है तो अपने विचार हमें कमेंट में बताएं।

List of Similar Full Forms

एसीपी अधिकारी का वेतन क्या है?

भारत में एक सहायक पुलिस आयुक्त के लिए उच्चतम वेतन ₹ 86,789 प्रति माह है। भारत में एक सहायक पुलिस आयुक्त के लिए न्यूनतम वेतन 86,789 रुपये प्रति माह है।

मैं एसीपी कैसे बन सकता हूं?

एसीपी बनने के लिए यूपीएससी की परीक्षा देनी होती है जिसमें आईपीएस का उल्लेख करना होता है। एक उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से न्यूनतम 55% के साथ किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री पूरी करनी चाहिए, वह परीक्षा के लिए भी आवेदन कर सकता है।

पुलिस में ACP की Power क्या है?

एक शहर के एसीपी की नियुक्ति पुलिस अधिनियम 1996 की धारा 50 के अनुसार की जाती है। एसीपी दिन-प्रतिदिन के कार्यों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है जिसमें कानून और व्यवस्था और अपराध की रोकथाम शामिल है। वह विभागीय नीतियों, कार्यों और निर्णयों पर इनपुट भी प्रदान करता है। एसीपी अपने उच्च अधिकारियों के प्रति जवाबदेह है।

एसीपी के लिए कौन सी परीक्षा है?

ACP (असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ पुलिस) बनने के लिए आपको CSAT परीक्षा पूरी करनी होगी और IPS को चुनना होगा। इसलिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में स्नातक की डिग्री पास करनी होगी। आयु सीमा 21-30 वर्ष है और ऊपरी आयु सीमा SC / ST के लिए 05 वर्ष और ओबीसी के लिए 03 वर्ष है।