Almanac Meaning

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on pinterest
Share on whatsapp
Almanac Meaning in Hindi (ऑःल्मॅनैक/ऑल्मनेक का हिंदी में मतलब) –  What Exactly Is The Meaning Of Almanac In Hindi, How To Pronounce – Understand It With Picture And Information. क्या आप भी Almanac का मतलब खोज रहे हैं, आइये जानते हैं थोड़े विस्तार में इसके बारे में:
Almanac Meaning in Hindi
Almanac Meaning in Hindi
क्या आप जानते हैं कि हिंदी में Almanac का क्या अर्थ है? Sahu4You पर Almanac का उच्चारण और अर्थ जानिए। बहुत सरल भाषा में Almanac की जानकारी और हिंदी में परिभाषा प्राप्त करें।

Meaning Of Almanac In Hindi

  • पंचांग
  • जन्त्री
  • सूचना कोश
  • कालदर्शक/पंचांग
  • पंचांग
  • पञ्चांग
  • पञ्चाङ्ग
  • पत्रा/पञ्चाङ्ग

पंचांग यानि की “Almanac” एक ऐसी तालिका (Table) को कहा जाता हैं जो की कई तरह के समयों या तिथियों पर आकाश में ज्योतिष-संबंधी वस्तुओं की दशा या स्थिति का Details दे।

पंचांग का मतलब होता है पाँच अंग जो हैं:

  • तिथि (Date)
  • वार (Day)
  • नक्षत्र (Star)
  • योग और
  • करण

कहा जाता है की पंचांग में “तिथि” पूर्ण चंद्रबिंब (Moonlight) का 15वाँ भाग होता है और “करण” इसका 30वाँ भाग बतलाता है। पंचांग का  “वार” एक सूर्योदय (Sunrise) से लेकर दूसरे सूर्योदय तक का Time बतलाता है। “नक्षत्र” क्रांतिवृत्त यानी कि ग्रहण संबंध का 27 वाँ भाग होता है और “राशि” 30वाँ। “योग” सूर्य और चंद्र के भागों का योग है। भारत में कालनिर्णय पंचांग काफी प्रचलित है |

Almanac अन्य भाषाओं में ऑल्मनेक शब्द की पूरी:

  • Hindi: ऑल्मनॅक
  • Bengali: ঑ল্মন৅ক
  • Gujrati: ઑલ્મનૅક
  • Kannada: ಆಲ್ಮನ್ಯಾಕ್
  • Malayalam: ആല്മന്യാക്
  • Marathi: ऑल्मनॅक
  • Punjabi: ਆਲ੍ਮਨੈਕ
  • Tamil: ஆல்மந்யாக்
  • Telugu: ఆల్మన్యాక్

Astronomy और Astrologer में कई तरह के पंचांगों का इस्तेमाल किया जाता है।

प्राचीन काल में कई संस्कृतियों ने Almanac का निर्माण किया था क्योंकि तब के लोगो के जीवन में सूरज, चन्द्रमा, तारों, नक्षत्रों और तारामंडलों की दशाओं का बहुत महत्व होता था।

यही नहीं उस समय दिन, सप्ताह, महीना और साल का क्रम भी पंचांगों पर हीं आधारित होता था। कोई भी त्यौहार हो या कोई भी शुभ अशुभ कार्य के लिए समय निर्धारित करना हो तो लोग पंचांग का इस्तेमाल हीं किया करते थे। आज भी कई लोग ऐसे है जो कोई भी शुभ कार्य करने से पहले एक बार किसी पंडित या ज्योतिष से Almanac देखवाते है।

Reading List