DDT

August 23, 2023 (1y ago)

DDT MeaningपरिभाषाDichloro Diphenyl Trichloroethaneहिंदी अर्थडिक्लोरो डीफेनिल ट्राइक्लोरोइथेनश्रेणीरसायन विज्ञान

DDT का मतलब क्या है?

DDT का फुलफॉर्म "Dichloro Diphenyl Trichloroethane" और हिंदी में मतलब "डिक्लोरो डीफेनिल ट्राइक्लोरोइथेन" है। Dichlorodiphenyltrichloroethane (डीडीटी) कृषि के क्षेत्र में इस्तेमाल किया एक कीटनाशक है।

डीडीटी क्या है? (What is DDT in Hindi)

डीडीटी एक रंगहीन, बेस्वाद, क्रिस्टलीय और लगभग गंधहीन ऑर्गेनोक्लोराइड पदार्थ है जो अपने कीटनाशक गुणों के लिए प्रसिद्ध है। यह इंसानों और जानवरों दोनों के लिए भी जहरीला है। यह ऊतकों में जमा होता है और कई वर्षों तक सक्रिय रहता है। यह आमतौर पर खेती और कृषि में कीटों को मारने और फसलों की रक्षा करने के लिए उपयोग किया जाता है। डीडीटी का इतिहासडीडीटी को पहली बार 1874 में संश्लेषित किया गया था और इसका उपयोग द्वितीय विश्व युद्ध के दूसरे भाग में मलेरिया और टाइफस को नागरिकों और सैनिकों के बीच नियंत्रित करने के लिए किया गया था। 1970 में, विश्व स्तर पर लगभग 386 मिलियन पाउंड डीडीटी का उत्पादन किया गया था।

संयुक्त राज्य अमेरिका में, 1959 में, यह एक स्प्रे (डीडीटी के लगभग 80 मिलियन पाउंड) के रूप में सबसे अधिक इस्तेमाल किया गया था। 1970 के दशक की शुरुआत में, पर्यावरण और जीवित जीवों पर DDT के नकारात्मक प्रभावों से संबंधित प्रश्न उठाए गए थे। 1973 में, अमेरिकी पर्यावरण संरक्षण एजेंसी ने संयुक्त राज्य अमेरिका में DDT के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया। DDT कैसे काम करता है?जब पौधों पर डीडीटी का छिड़काव किया जाता है, तो पौधों पर रहने वाले कीड़े इसके संपर्क में आ जाते हैं। यह कीट के न्यूरॉन्स को प्रभावित करता है जो अंततः मौत का कारण बनता है। यह खाद्य पौधों के माध्यम से मानव जीवन चक्र पर बहुत प्रतिकूल प्रभाव डालता है।

डीडीटी के हानिकारक प्रभाव

इंसानों पर प्रभाव: यदि हम केवल मनुष्यों पर इसके प्रतिकूल प्रभाव के बारे में बात करते हैं, तो यह उनके लिए बहुत हानिकारक पदार्थ होगा। इससे इंसानों में कई तरह की बीमारियां होती हैं।

  • मधुमेह
  • यकृत कैंसर
  • स्तन कैंसर वन्यजीवों पर प्रभाव: डीडीटी वन्यजीवों, पक्षियों, स्तनधारियों, मछलियों आदि की एक विस्तृत विविधता के लिए बहुत ही जहरीला और खतरनाक रसायन है। यह अंडे के टूटने और भ्रूण की मृत्यु के कारण कुछ पक्षियों की प्रजातियों में अंडे के पतलेपन और प्रजनन दर के कम होने के लिए जिम्मेदार है।
Gradient background