भौतिक विज्ञान क्या है? What is Physics in Hindi

November 14, 2023 (1y ago)

भौतिकी विज्ञान की एक महत्वपूर्ण शाखा है जो पदार्थ, ऊर्जा और ब्रह्माण्ड से संबंधित घटनाओं का अध्ययन करती है। भौतिकी हमें प्रकृति के नियमों और सिद्धांतों का ज्ञान कराती है।

भौतिकी में गति, ऊर्जा, प्रकाश, विद्युत, चुम्बकत्व, गुरुत्वाकर्षण आदि प्राकृतिक घटनाओं का अध्ययन किया जाता है। इसमें पदार्थों के गुणों, परमाणुओं, तरल पदार्थों और ठोस पदार्थों के बारे में भी जानकारी मिलती है।

What is Physics in Hindi

भौतिकी (Physics) एक प्राकृतिक विज्ञान है जो अंतरिक्ष और समय के माध्यम से पदार्थ, उसकी गति और व्यवहार और ऊर्जा और बल की संबंधित संस्थाओं का अध्ययन करता है।

भौतिकी सबसे मौलिक वैज्ञानिक विषयों में से एक है, और इसका मुख्य लक्ष्य यह समझना है कि ब्रह्मांड कैसे व्यवहार करता है।

भौतिकी की परिभाषा:

भौतिकी विज्ञान की वह शाखा है जिसमें पदार्थ और ऊर्जा की प्रकृति और गुणों का अध्ययन किया जाता है। भौतिकी में यांत्रिकी, ऊष्मा, प्रकाश, विकिरण, ध्वनि, विद्युत, चुंबकत्व और पदार्थ के रूप में परमाणु की संरचना शामिल है।

History of Physics

भौतिकी एक महत्वपूर्ण विज्ञान है जो प्राकृतिक दुनिया में घटनाओं को समझने और वर्णित करने का प्रयास करती है। यह दुनिया में होने वाले सभी वस्तुओं, उनकी गतिविधियों, ऊर्जा, और उनके बीच के संबंधों को अध्ययन करती है। भौतिकी विज्ञान में ग्रविटेशन, ऊर्जा, गति, रोशनी, ध्वनि, तथा अणु, परमाणु और परमाणुओं का संरचना जैसे विषय शामिल होते हैं।

वर्तमान में, भौतिकी से जुड़े कई क्षेत्रों में तेजी से विकास हो रहा है। इसमें ऊर्जा संदर्भ, नवाचार, अंतरिक्ष विज्ञान, नैनो-भौतिकी, और विकल्पी ऊर्जा स्रोतों की खोज शामिल हैं। यह विज्ञान न केवल हमारे दैनिक जीवन में बदलाव लाने की क्षमता रखता है बल्कि इसका अध्ययन और अनुसंधान नई तकनीकों और उपायों की खोज में मदद करता है।

भौतिकी का महत्व

भौतिकी, प्रकृति विज्ञान की एक विशाल शाखा है। भौतिकी तकनीकी बुनियादी ढांचे में योगदान करती है और वैज्ञानिक प्रगति और खोजों का लाभ उठाने के लिए आवश्यक प्रशिक्षित कर्मियों को प्रदान करती है।

रसायनज्ञों, इंजीनियरों और कंप्यूटर वैज्ञानिकों के साथ-साथ अन्य भौतिक और जैव चिकित्सा विज्ञान के चिकित्सकों की शिक्षा में भौतिकी एक महत्वपूर्ण तत्व है।

न्यूटन भौतिकी के जनक हैं। लेकिन न्यूटन, गैलीलियो और आइंस्टीन सभी को 'आधुनिक भौतिकी का जनक' कहा जाता है।

न्यूटन को उनके गति के नियम के लिए, गैलीलियो को वैज्ञानिक क्रांति और अवलोकन संबंधी खगोल विज्ञान में उनके योगदान के लिए, और आइंस्टीन को सापेक्षता के अपने महत्वपूर्ण सिद्धांत के लिए।

Types of Physics

फिजिक्स कितने प्रकार के होते हैं? भौतिकी मैं हम विज्ञान का अध्ययन करते है, इसमें द्रव्य, ऊर्जा, पदार्थ के बारे मैं पढ़ते है।

भौतिकी दो प्रकार की होती है

  • Classical Physics: शास्त्रीय भौतिकी: शास्त्रीय भौतिकी मैं शरीर और बलों, ध्वनि विज्ञान के बारे मैं अध्ययन किया जाता है
  • Modern Physics: सापेक्षता और क्वांटम यांत्रिकी के बारे मैं अध्ययन किया जाता है

चिरसम्मत फिजिक्स (Classical Physics)

1900 ई. तक यानि 20 वी सदी तक की भौतिकी को चिरसम्मत भौतिकी कहा जाता है।

चिरसम्मत भौतिकी में निम्न शाखाएँ आती है –

1. यांत्रिकी (Mechanics)

इस शाखा में वस्तुओं पर आरोपित होने वाले बल (Force) तथा वस्तुओं की गति (Velocity) का अध्ययन किया जाता है।

2. उष्मागतिकी (Thermodynamics)

इसमें ऊष्मा (Heat), ताप (Temperature) तथा ऊर्जा (Energy) के विभिन्न प्रकार में आपस में सम्बन्ध तथा ऊष्मा (Heat), ताप (Temperature) एवं सूक्ष्म कणों से बने निकाय आदि का अध्ययन किया जाता है।

3. प्रकाशिकी (Optics)

इस शाखा में प्रकाश की प्रकृति (Nature of light) , प्रकाश के गुण (Properties of light) और प्रकाश से सम्बन्धित सभी घटनाओं (परावर्तन तथा अपवर्तन Reflection and Refraction) आदि का अध्ययन किया जाता है।

4. विद्युत चुम्बकत्व (Electromagnetic)

आवेशित कणों (Charged Particles) तथा वस्तुओं में विद्युत चुम्बकत्व (Electromagnetism) , चुम्बकीय तरंगे (Magnetic waves), चुम्बकीय प्रभाव (Magnetic effect) आदि का अध्ययन किया जाता है।

5. ध्वनि विज्ञान (Acoustics)

इसमें ध्वनी की प्रकृति (Nature of sound), ध्वनी तरंगों (Sound waves), ध्वनि के गुणों (Properties of sound) का अध्ययन किया जाता है।

6. चिरसम्मत तरंग यांत्रिकी (Classical wave Mechanics)

चिरसम्मत भौतिकी की इस शाखा में प्रगामी तथा अप्रगामी तरंगों (Progressive and backward waves) का अध्ययन किया जाता है।

भौतिकी की शाखाएँ (Branches of physics in Hindi)

आधुनिक फिजिक्स (Modern Physics)

भौतिकी की इस शाखा में कणों तथा ऊर्जा के व्यवहार (Behavior of particles and energy) का अध्ययन किया जाता है।

इसमें बहुत ही छोटे स्केल पर भी इनका अध्ययन आसानी से व स्वच्छता से किया जा सकता है।

आधुनिक भौतिकी (Modern Physics) की शाखाएँ निम्न प्रकार है –

1. आपेक्षिक भौतिकी (Relativity)

भौतिकी की इस शाखा में प्रकाश के वेग (Velocity of light) के लगभग बराबर गति से गतिमान कणों यानि पिण्डों का अध्ययन किया जाता है।

2. क्वांटम यांत्रिकी (Quantum Mechanics)

इसमें बहुत कम ऊर्जा स्तरों का (Low energy levels) , प्रकाश तथा कणों की द्वेत प्रकृति (Dual nature of light and particles) से जुड़े सिद्धांत आदि का अध्ययन किया जाता है।

3. परमाणु भौतिकी (Atomic Physics)

इस शाखा में परमाणु की संरचना (Structure of atom), परमाणु में इलेक्ट्रान की व्यवस्था (arrangement of electron in atom), परमाणु का आकर (size of atom) आदि का अध्ययन किया जाता है।

4. नाभिकीय भौतिकी (Nuclear Physics)

इस शाखा में परमाणु के नाभिक की स्थिति तथा गुणों (Position and properties of nucleus) का अध्ययन किया जाता है।


भौतिकी विज्ञान विश्व की एक महत्वपूर्ण विज्ञान है जो हमें प्रकृति के नियमों और सिद्धांतों को समझने में मदद करती है। इससे हम अपने आस-पास के घटनाओं को समझते हैं और विज्ञान के दृष्टिकोण से उन्हें विश्लेषण कर सकते हैं।

भौतिकी हमें समझाती है कि प्रकृति में होने वाली घटनाएं किन नियमों से नियंत्रित होती हैं। इसलिए भौतिकी को विज्ञान की एक मूलभूत शाखा माना जाता है।

Gradient background