UDP

August 23, 2023 (1y ago)

UDP का फुलफॉर्म "User Datagram Protocol" और हिंदी में यूडीपी का मतलब "यूज़र डेटाग्राम प्रोटोकोल" है। UDP Protocol क्या है, यूडीपी प्रोटोकॉल कैसे काम करता है, यूडीपी प्रोटोकॉल की विशेषताएं क्या हैं, यूडीपी प्रोटोकॉल के उपयोग क्या हैं, यूडीपी और टीसीपी प्रोटोकॉल में क्या अंतर है और यूडीपी के फायदे और नुकसान क्या हैं।

UDP क्या है (What is UDP in Hindi)

UDP यानी यूजर डेटाग्राम प्रोटोकॉल एक संचार प्रोटोकॉल है जिसका इस्तेमाल इंटरनेट पर दो एप्लिकेशन या डिवाइस के बीच डेटा ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है। इस प्रोटोकॉल को डेविड पी रीड ने 1980 में RFC768 के रूप में विकसित किया था।

कंप्यूटर नेटवर्किंग में, User Datagram Protocol इंटरनेट प्रोटोकॉल सूट के मुख्य संचार प्रोटोकॉल में से एक है जिसका उपयोग इंटरनेट प्रोटोकॉल नेटवर्क पर अन्य होस्ट को संदेश भेजने के लिए किया जाता है। एक आईपी नेटवर्क के भीतर, यूडीपी को संचार चैनल या डेटा पथ स्थापित करने के लिए पूर्व संचार की आवश्यकता नहीं होती है।

UDP का फुल फॉर्म क्या है?

परिभाषा:

User Datagram Protocol

हिंदी अर्थ:

यूज़र डेटाग्राम प्रोटोकोल

यूडीपी का फुल फॉर्म User Datagram Protocol है। हिंदी में इसे "उपयोगकर्ता डेटाग्राम प्रोटोकॉल" कहा जाता है।

यूडीपी हैडर क्या है (UDP Header In Hindi)

UDP Header एक साधारण हेडर है जो 8 बाइट्स का होता है। यूडीपी पोर्ट 16 बिट लंबे होते हैं, इसलिए इन पोर्ट नंबरों की सीमा 0 से 65535 तक रखी जाती है, जिसमें पोर्ट नंबर 0 आरक्षित होता है। पोर्ट नंबर अलग-अलग उपयोगकर्ता अनुरोधों को अलग रखते हैं।

UDP एक अविश्वसनीय और कनेक्शन रहित प्रोटोकॉल है, इसलिए डेटा को स्थानांतरित करने से पहले इसे कनेक्शन की आवश्यकता नहीं होती है। UDP का उपयोग TCP (Transmission Control Protocol) के विकल्प के रूप में किया जाता है।

UDP Protocol के लिए यह आवश्यक नहीं है कि डेटा प्राप्तकर्ता तक उसी क्रम में पहुंचेगा जिस क्रम में डेटा भेजा जाता है। यूडीपी में डेटा पैकेट को डेटा-ग्राम कहा जाता है, इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि प्रेषक द्वारा भेजा गया सभी डेटा प्राप्तकर्ता तक पहुंचता है, बीच में कुछ डेटा-ग्राम भी खो सकता है।

UDP की विशेषताएं (Feature of UDP in Hindi)

यूडीपी प्रोटोकॉल की कुछ मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं -

यूडीपी एक कनेक्शन रहित प्रोटोकॉल है, इसे डेटा ट्रांसफर करने के लिए कनेक्शन की आवश्यकता नहीं होती है।यूडीपी एक फास्ट प्रोटोकॉल है जो बहुत तेजी से डेटा ट्रांसफर करने में असमर्थ है।यूडीपी एक अविश्वसनीय प्रोटोकॉल है और डेटा वितरण की कोई गारंटी प्रदान नहीं करता है।UDP का उपयोग लेनदेन आधारित प्रोटोकॉल जैसे DNS, BOOTP आदि के लिए किया जाता है।यूडीपी में, डेटा सेगमेंट में केवल चेकसम होता है।

Gradient background